• Thursday November 21, 2019

Varanasi

Uttar Pradesh · India
follow 9 followers
Write a news/views or… एक खबर लिखें/विचार प्रस्तुत करें या …
वाराणसी. महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ में छात्रसंघ चुनाव के नामांकन के दौरान दो छात्रों के गुटों के बीच मारपीट के साथ पथराव हो गया। साथ ही वाहनों को जलाने की भी कोशिश की गई। काशी विद्यापीठ छात्र संघ चुनाव में नामांकन के दौरान छात्रों के दो गुटों में मारपीट और पत्थरबाजी हो गई। भारत माता मंदिर के पास हुई इस घटना सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने छात्रों को खदेड़ा तब जाकर मामला शांत हुआ। हालांकि इस दौरान थानाध्यक्ष भी घायल हो गए। विश्वविद्यालय में नामांकन करने के बाद अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद और समाजवादी छात्र सभा के कार्यकर्ता जुलूस निकाल रहे थे। विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता भारत माता मंदिर पर थे। इसी बीच बाहर सड़क पर समाजवादी छात्र सभा के कार्यकर्ताओं का जुलूस भी जा रहा था। जैसे ही दोनों जुलूस भारत माता मंदिर के सामने नारेबाजी शुरू हो गई।इसी दौरान दोनों तरफ से पथराव शुरू हो गया, जिससे वहां मौजूद लोगों में भगदड़ मच गई। इस दौरान एक प्रत्याशी की गाड़ी को भी फूंकने की कोशिश की गई लेकिन मौके पर पहुंची पुलिस ने छात्रों के हाथ से पेट्रोल भरी बोतल छीन ली और आगजनी होने से बच गई। इधर घटना के बाद से विद्यापीठ मुख्य द्वार और भारत माता मंदिर पर पुलिस और पीएसी तैनात कर दी गई है।चेतगंज सीओ अनिल कुमार ने बताया कि 28 तारीख को कालेज में मतदान होना है। आज सत्यापन के लिए दोंनो गुट सिगरा के पास से जुलूस की शक्ल में बढ़ रहे थे। किसी एक गुट ने दूसरे गुट पर पत्थर फेंका। उसके बाद देखते ही देखते छात्र एक खुली जीप,जो प्रत्यशी की थी। उसको कब्जे में ले लिए और पथराव शुरू कर दिए। वीडियो के आधार पर कार्यवाही किया जा रहा है।मंगलवार को 36 प्रत्याशियों ने आन लाईन रजिस्ट्रेशन हुआथा। आज सभी को डाक्यूमेंट्र के साथ सत्यापन करने जाना था। अध्यक्ष के लिए 5,उपाध्यक्ष के लिए 8,महामंत्री के लिए3 समेत कुल 36 उम्मीदवार मैदान में हैं।... read more @ Dainik Bhaskar
  • (0) Authenticate
  • (0)Fake
  • (0)Opinion
An assistant professor in the Sanskrit faculty of the Banaras Hindu University (BHU), whose appointment led to protests by a section of students, has said he is unable to understand why his religious identity suddenly an issue. On the opposition by Akhil Bharatiya Vidyarthi Parishad (ABVP) over his appointment in the Sanskrit literature department, Firoze Khan told The Indian Express, "All my life, I learnt Sanskrit and I was... read more
  • (1) Authenticate
  • (0)Fake
  • (0)Opinion
वाराणासी. काशी हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) के राजनीति विभाग में सावरकर की तस्वीर पर कालिख पोतने का मामला सामने आया है। शिक्षकों के अनुसार विज्ञान विभाग के 103 नम्बर कमरे में सावरकर की फ़ोटो लगी थी। कुछ अराजक तत्वों ने सोमवार को चुपके से इस तरह कीहरकत को अंजाम दिया है। इसकी जांच के लिए टीम का गठन किया गया है। छात्रों ने मांग की है कि सावरकर के सम्मान में विभाग में 5 फीट की प्रतिमा लगाई जाए।राजनीति विभाग के प्रोफेसर अशोक कुमार उपाध्याय ने बताया कि पूरे मामले की जांच के लिए कल शाम को ही तीन सदस्यीय टीम का गठन जांच के लिए कर दिया गया है। तस्वीर को भी बदल दिया गया है।वहींशोध छात्र डॉ अरुण कुमार चौबे ने बताया कि कल एमए फर्स्ट ईयर का क्लास दोपहर चलने वाला था। छात्रों ने मुझे फोन किया कि किसी ने कालिख पोत दिया है। तुरंत विभाग में शिकायत करके कालिख को साफ करवाया गया। हम लोगो ने मांग की है कि सावरकर जी के सम्मान में विभाग में 5 फीट की प्रतिमा लगाई जाए।डॉ चौबे के मुताबित कुछ वाम विचारधारा के लोग ऐसा कर रहे हैं। वो चाहते हैं कि विश्वविद्यालय का माहौल खराब हो और शैक्षणिक कार्य बाधित हो।... read more @ Dainik Bhaskar
  • (0) Authenticate
  • (0)Fake
  • (0)Opinion
वाराणासी (अमित मुखर्जी). उत्तर प्रदेश की सांस्कृतिक नगरी काशी में भैरव अष्टमी काफी धूमधाम से मनायी जाती है। इस बार भी 19 नवम्बर को गोलघर स्थित काल भैरव मंदिर में धूमधाम से यह अष्टमी मनाईजाएगी। काल भैरवको काशी के काेतवाल की संज्ञा से विभूषित किया जाता है। ऐसा कहा जाता है कि खुद यमराज भी बिना इजाजत के यहां किसी के प्राण नहीं हर सकते।मंदिर के महंत मोहित जोगेस्वर ने बताया कि काल भैरव शिव के पांचवे रुद्र अवतार माने जाते हैं।कैसे बाबा भैरव बने काशी के कोतवालकथाओं के अनुसार, एक बार ब्रह्मा जी और विष्णु जी में श्रेष्ठता को लेकर विवाद हुआ। इसके बाद सभी भगवान शिव के पास गए।कुछ बातों को लेकर ब्रह्मा जी, भगवान शिव को भला-बुराकहने लगे। इसके बाद भगवान शिव को गुस्सा आ गया।भगवान शिव के गुस्से से ही काल भैरव जी प्रकट हुए और उन्होंने ब्रह्मा जी का सिर काट दिया था।काल भैरव पर लगा थाब्रह्म हत्या का दोषकाल भैरव पर ब्रह्म हत्या का दोष लगने के बाद वह तीनों लोकों में घूमे। लेकिन उनको मुक्ति नहीं मिली। इसके बाद भगवान शिव ने आदेश दिया कि तुम काशी जाओ, वहीं मुक्ति मिलेगी। इसके बाद वह काल भैरव के रूप में वो काशी में स्वयं भू प्रकट हुए।काशी के कोतवाल हैं काल भैरवकहा जाता है कि बाबा विश्वनाथ काशी के राजा हैं और काल भैरव उनके कोतवाल, जो लोगों को आशीर्वाद भी देते हैं और सजा भी।यमराज को भी यहां के इंसानों को दंड देने का अधिकार नहीं है। महंत केमुताबिक, काल भैरव के दर्शन मात्र से शनि की साढ़े साती, अढ़ैया और शनि दंड से बचा जा सकता है।बाजीराव पेशवा और अहिल्याबाई ने कराया मंदिर का जीर्णोद्धारबाजीराव पेशवा और कालांतर में रानी अहिल्या बाई होलकर ने मंदिर का जीर्णोद्वार करवाया। मंदिर का कोई लिखित इतिहास नहीं मिलता है। बाबा की इतनी श्रद्धा और भक्ति है कि बगल के थाने (कोतवाली) में कोई प्रशासनिक अधिकारी कभी निरीक्षण नहीं करता और न ही अपनी कुर्सी पर थानाध्यक्ष बैठता है। यहां के कोतवाल बाबा भैरव ही हैं।चारों पहर होती है भैरव की आरतीईशान कोण पर स्थित मंदिर तंत्र साधना का बड़ा केंद्र है। शनि की साढ़े साती से मुक्ति यहां तेल अर्पण करने से होता है। बाबा को दाल बरा,मदिरा,पेड़ा ,मलाई खूब प्रिय है। भैरव की चारों प्रहर की आरती होती है, जहां भक्तों की काफी भीड़ लगती है।... read more @ Dainik Bhaskar
  • (0) Authenticate
  • (0)Fake
  • (0)Opinion
वाराणासी. काशी हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू)परिसर में गुरुवार को हुए बवाल के बाद शुक्रवार सुबह ही नाराज छात्रों ने विश्वविद्यालय के मुख्य द्वार को बंद कर वहीं धरने पर बैठ गए। प्रदर्शन कर रहे छात्रों ने कैंपस के भीतर कई स्थानों पर 'वीसी भटनागर भटक गए', पुलिस चलाएगी विश्वविद्यालय' जैसे पोस्टर भी लगाए गए हैं। छात्रों की मांग है कि कैम्पस से पुलिस ,पीएसी और फोर्स को बाहर किया जाए।जिन्होंने कल छात्रों पर लाठीचार्ज किया उनको बर्खास्त किया जाए।प्रॉक्टर और वीसी को हटाया जाए। हॉस्टल तत्काल खोला जाए।वही कंदवा निवासी तुलसी सिंह अपने नाती मुदित सिंह को खोजते हुए पहुंचे। उन्होंने बताया उनका नाती बीए थर्ड ईयर का छात्र है। गुरुवार शाम से ही गायब हैं। 5 बजे उसने फोन किया था कि नाना आप लेने आ जाइए। उसके बाद उसका फोन बंद हो गया।वहीं कुछ छात्रों का दावा है कि पुलिस मुदित को उठाकर कहीं ले गयी है। आरोप है कि इसके अलावा और भी कुछ छात्रों को भी पुलिस ने उठाया है।यह है मामलाकाशी हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) में गुरुवार दोपहर पुराने विवाद को लेकर बिरला व लाल बहादुर शास्त्री छात्रावास के छात्रों में पथराव शुरू हो गया था। सूचना मिलने पर कई थानों की फोर्स मौके पर पहुंची। छात्रों के विवाद को शांत कराया गया था। लंका एसओ भारत भूषण की अगुवाई में दोनों छात्रावासों की चेकिंग की गई। इस दौरान छतों पर भारी मात्रा में पत्थर मिले और एलबीएस में एक तमंचा भी बरामद किया गया था।... read more @ Dainik Bhaskar
  • (0) Authenticate
  • (0)Fake
  • (0)Opinion
The deputy chief proctor of the Banaras Hindu University's Rajiv Gandhi South Campus in Barkachha, Kiran Damle was made to resign from her post for uprooting the RSS flag from the campus during a Shakha. As per reports on Tuesday, Ms Damle had allegedly removed the RSS flag while the student members were practicing pranayaam. Taking it as an insult to the practice, the students protested and later the proctor handed over her r... read more
  • (4) Authenticate
  • (0)Fake
  • (0)Opinion

Loading posts...
End
∅ Error while loading more posts!
Success !
Success !
Or